rajkotupdates.news : tata-group-takes-the-rights-for-the-2022-and-2023-ipl-seasons

rajkotupdates.news : tata group takes the rights for the 2022 and 2023 ipl seasons : are all set to be replaced by tata group as the new sponsors of the t20 league which will head into its 15th season this year the ipl governing council met on tuesday.

where it was confirmed that tata will be the new sponsors of the league going forward ipl chairman brijesh patel confirmed vivo’s exit and tata is on board as the new sponsor of one of the most popular t20 leagues in the world vivo won the title rights of ipl in 2018 for a whopping sum of 440 crore rupees till the 2020 season.

however it had to pull out for a year in 2020 due to the tension after an india china diplomatic standoff dream 11 was roped in as the sponsor for a year while vivo steel was extended till 2023 due to the one-year pause however ” tata group will now be the main sponsor for the 2022 and 2023 season the indian premier league ” which kicked off in 2008 has gone on to become one of the most lucrative sporting events in the world and is the richest t20 league by a fair margin subscribe to one india channel and never miss an update

rajkotupdates.news : tata group takes the rights for the 2022 and 2023 ipl seasons

The Tata group has replaced Chinese mobile phone manufacturer Vivo as the title sponsor of the Indian Premier League (IPL) for 2022 and 2023 seasons, Board of Control for Cricket in India (BCCI) officials have said. A Tata Sons spokesperson confirmed the development.

The Tata Group has replaced Vivo as the title sponsor for the Indian Premier League 2022 and 2023 editions. “We are delighted with Tata Sons having come on board as the title sponsors for IPL. The situation arose with Vivo being unable to continue its association. Tatas will be the title sponsors for the next two editions,” IPL chairman Brijesh Patel told The Hindu after the IPL governing council meeting on Tuesday.

With Vivo deciding to pull out of its existing contract running till 2023, the credible Tata group stepped in, thus extending its association with Indian sport from tennis and badminton to cricket. The Hindu understands that the Tatas will have to shell out more than ₹440 crore per year that Vivo was paying, due to the increase in number of matches per edition from 60 to 74.

टाटा समूह: वीवो ने 2018 से 2022 तक आईपीएल प्रायोजन अधिकार हासिल किए हैं। 2200 करोड़। विवो ने अब 2022 और 2023 आईपीएल सीज़न के लिए टाटा समूह को प्रायोजन अधिकार दिए हैं।

आईपीएल को टाटा ग्रुप के रूप में नया टाइटल स्पॉन्सरशिप मिला है। इसका नाम आईपीएल 2022 से जुड़ा होगा और यह सिलसिला आईपीएल 2023 तक जारी रहेगा। अब इसे टाटा आईपीएल कहा जाएगा। भारत के सबसे बड़े बिजनेस हाउस टाटा ग्रुप ने चीनी मोबाइल निर्माता वीवो का स्थान लिया है। यह फैसला 11 जनवरी को आईपीएल संचालन परिषद की बैठक में लिया गया। टाटा ग्रुप आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सर बनने वाली चौथी कंपनी है। टाटा से पहले डीएलएफ, पेप्सी, वीवो और ड्रीम 11 को टाइटल स्पॉन्सर के रूप में नामित किया गया था। टाटा के आने से बीसीसीआई को लगभग रु. 130 करोड़ का मुनाफा

VIVO ने 2018 से 2022 तक रुपये में IPL प्रायोजन अधिकार हासिल किया है। 2,200 करोड़ लेकिन गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच सैन्य टकराव के बाद 2020 में वीवो पर दबाव बढ़ गया। ऐसे में वीवो ने आईपीएल 2020 में एक साल का ब्रेक लिया है। उनकी जगह ड्रीम 11 के प्रायोजक ने ले ली। वीवो 2021 में फिर से स्पॉन्सर बना। लेकिन बीसीसीआई से उनके रिश्ते में खटास आ गई। इसके बाद कयास लगाए जाने लगे कि वे सही बोली लगाने वाले को टाइटल स्पॉन्सरशिप देने को तैयार हैं। बीसीसीआई ने भी इस मामले को मंजूरी दे दी है।

इस तरह बढ़ी BCCI की कमाई


टीओआई की खबर के मुताबिक, आईपीएल 2022 से इस टूर्नामेंट में 10 टीमें खेलने वाली हैं। ऐसे में बीसीसीआई को वीवो से 996 करोड़ रुपये मिलने थे। वीवो ने दोनों सीजन के लिए 484 रुपये और 512 करोड़ रुपये देने की पेशकश की थी। इससे पहले एक सीजन के लिए 440 करोड़ रुपये की राशि थी। वहीं, टाटा ग्रुप रुपये चार्ज करता है। 335 करोड़ का प्रस्ताव किया गया है। वहीं, वीवो बोर्ड को रुपये का एक्जिट शुल्क मिला। 450 करोड़। इससे बीसीसीआई का राजस्व 1120 करोड़ रुपये हो जाएगा।

Leave a Comment

x